Saturday, February 11, 2017

752



1-अनिता मण्डा
1
मीठे- से गीत लिखें।
लहरें नदिया की
कितना संगीत लिखें।
2
नस-नस में घुल जाता ।
दर्द का मुहब्बत का
किस्मत से मिल पाता ।
3
जीवन में नूर भरा।
तेरे होने से
रहता मन बाग़ हरा।
4
फागुन मन भावन है।
रंगों की वर्षा
करती मन पावन है।
5
होली के रंग खिले।
साथी बचपन के
रंगों के संग खिले।
6
यह खेल निराला है।
तन पर रंग चढ़े
मन क्यों फिर काला है।
-0-
2- सुनीता काम्बोज
1
पाती लिख  भेजी है
मन की हर धड़कन
हर बार  सहेजी है
2
कुछ बातें लिखनी हैं
दिन बैचेन लिखूँ
नम रातें लिखनी हैं
3
कण कण में तू बसता
तुझ तक आने का
मैं ढूँढ रही रस्ता ।
4
गुलदस्ता टूट गया
मेरे सपनों का
घर हँसता टूट गया ।
5
रण बीच खड़ा रथ है
अर्जुन डोल गए
मुश्किल जीवन -पथ है ।
6
गुरु पथ ना दिखलाते
घोर अँधेरों में
हम कैसे चल पाते
7
कल तक थे मँडराते
यार मुसीबत में
अब पास नहीं आते।
8
सबको पहचान लिया
छोटे जीवन में
कितना कुछ जान लिया ।
9
भटकों को ठौर मिला
घोर अँधेरे को
जैसे ये भोर मिला
10
तेवर दिखलाती हैं
लहरें  नौका को
अब डर दिखलाती हैं ।
-0-

11 comments:

anita manda said...

कुछ बातें लिखनी हैं
दिन बैचेन लिखूँ
नम रातें लिखनी हैं ।
वाह!!

सारे माहिया बहुत अच्छे सुनीता जी।

मेरे माहिये देने हेतु संपादक द्वय का आभार।

Pushpa Mehra said...


अनिता जी नं.६ माहिया नक़ाबपोशों का वास्तविक रूप बताता सुंदर है|कल तक थे मंडराते\यार मुसीबत में अब \पास नहीं
आते|सुनीता जी सुंदर माहिया !!

पुष्पा मेहरा

Vibha Rashmi said...

अनिता मंडा जी को सुमधुर माहिया के लिये बधाई।
फागुन मन भावन है।
रंगों की वर्षा
करती मन पावन है।
सुनीता काम्बोज जी के मनभावन माहिया ।हार्दिक बधाई लो ।

पाती लिख भेजी है
मन की हर धड़कन
हर बार सहेजी है ।
सनेह विभा रश्मि

ज्योति-कलश said...

बहुत सुन्दर , मधुर माहिया मन मोह गए |
'मीठे गीत' , 'फागुन' , 'कुछ बातें' और 'कल तक थे' माहिया बेहतरीन !
अनीता मंडा जी और सुनीता जी को हार्दिक बधाई !!

Dr Purnima Rai said...

वाहहहहहह
Bahut sunder
Anita ji ...Sunita ji

ऋता शेखर 'मधु' said...

मीठे- से गीत लिखें।
लहरें नदिया की
कितना संगीत लिखें।.......बहुत प्यारा माहिया, बधाई अनीता जी!

ऋता शेखर 'मधु' said...

पाती लिख भेजी है
मन की हर धड़कन
हर बार सहेजी है ।
सुनीता जी के सभी माहिया सुन्दर!
बधाई स्वीकारें !

sunita kamboj said...

आप सबने टिप्पणी द्वारा हौंसला बढ़ाया आप सबकी ह्रदय से आभारी हूँ ..सादर नमन आप सबको

मेरे माहिया को लोकप्रिय ब्लॉग पर स्थान देने के लिए हार्दिक आभार आदरणीय

अनिता जी हार्दिक बधाई सभी माहिया उत्तम मनभावन

Kashmiri Lal said...

मनभावन

Anita Lalit (अनिता ललित ) said...

एक से बढकर एक माहिया ! बहुत ही सुंदर और भावपूर्ण ! मन प्रसन्न हो गया !!!
हार्दिक बधाई प्रिय अनिता एवं प्रिय सखी सुनीता जी !!!

सादर/सप्रेम
अनिता ललित

प्रियंका गुप्ता said...

बहुत सुन्दर माहिया...हार्दिक बधाई...|