Wednesday, August 12, 2015

वाह ज़िन्दगी



1-चोका
भावना सक्सैना


1
चलती रही
हर हाल में आगे
पकड़े रही
हौसलों का दामन
यही ज़िंदगी
मुस्कानों में पनपी
सिंची अश्रु से
गिरके  सँभलना
इसकी खूबी रही।
 
-0-

2- सेदोका
1-हरकीरत हीर
1
रोती है नज़्म
तन्हा- तन्हा रातों में
क्या टूट कर गिरा?
इक विश्वास,
हर किरच में दिखे
घायल अरमान
-0-
2-कमल कपूर
1
नहीं चाहिए
गगन की ऊँचाई
सिंधु की गहराई ,
पृथ्वी- पुत्री हूँ
माटी में मिलकर
माटी ही बनना है ।
2
वाह  ज़िन्दगी  
राई-राई  बढ़ती
रत्ती-रत्ती  घटती ,
आह  ज़िन्दगी  
रेशा-रेशा जलती
रफ्ता-रफ्ता चलती ।

-0-
3-अनिता मण्डा
1
शांत नीरव
चाँदनी का घूँट पी
सोये सारे नज़ारे,
विकल हिय
सुधियों का सागर
जागे नैन हमारे।
2
नींद न आई
जब भी चाहा छूना
दहलीज़ ख्वाबों की,
जख़्म दे गई
हर बार ही नया
छुअन गुलाबों की।
3
बनें बिगड़ें
ये रेतीली लहरें
कब प्यास बुझाएँ
सूखे वो तरु
सींचा नहीं जिनको
कहाँ से छाँह पाएँ।
4
चन्दन तरु
विष नहीं गहता
सर्प संग रहता,
सज्जन मन
ऊँच-नीच सहता
आये न कुटिलता।
-0-
4-कोमल सोमडवाल
1
 समय- पंछी
उतर धरा पर
ठिठक-सा गया है,
मोहित हुआ
देखकर अपना
अभिसार यहाँ है।
-0-

10 comments:

Kamla Ghataaura said...

वाह जिन्दगी के अन्तरगत जिन्दगी की अलग अलग अनुभूति राता चोका और सेदोका अच्छे लगे।मुबारक सब को अच्छी रचना के लिये ।कमला घटाऔरा ।

Manju Gupta said...

रेशा-रेशा जलती
रफ्ता-रफ्ता चलती ।

shbd yugm ka sundr pryog , sbhi rchnaa en ek se badhakar ek haen .
sbhi ko badhai .

Pushpa Mehra said...

choka sahit sabhi sedoka bahut hi sunder lage .sabhi rachanakaron ko badhai.
pushpa mehra.

ज्योति-कलश said...

सकारात्मक सोच लिए बहुत सुन्दर चोका !

मन को गहरे छू गए ..सेदोका ..'रोती है नज़्म' ,पृथ्वी-पुत्री ..और ..वाह ज़िंदगी ..नींद न आई ,समय -पंछी ...सभी अनुपम !!
भावना जी , हीर जी , कमल कपूर जी , अनिता जी और कोमल जी को हार्दिक बधाई !!




Krishna said...

चोका और सेदोका की बेहद सुन्दर प्रस्तुति...भावना जी , हरकीरत जी , कमल कपूर जी , अनिता जी और कोमल जी को हार्दिक बधाई !

Dr.Bhawna said...

Sabhi rachnayen apne aap men purn hain meri sabhi rachnakaron ko badhai...

anita manda said...

भावना जी,हीर जी,कमल जी,कोमल बहुत उम्दा रचनाओं ने मन मोह लिया। बधाई।

Anita Lalit (अनिता ललित ) said...

सुंदर चोका एवं सेदोका !
सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई!!!

~सादर
अनिता ललित

मेरा साहित्य said...

bahut hi bhavpurn rachnayen aap sabhi ko bahut bahut badhai
rachana

प्रियंका गुप्ता said...

बहुत उम्दा चोका और सेदोका...आप सभी को हार्दिक बधाई...|