Wednesday, November 26, 2014

‘राशनिंग’ धूप की



चोका
राशनिंग धूप की
डॉ सुधा गुप्ता

शीत राजा ने
शुरू की मनमानी
क्या करे कोई ?
नए क़ानून बने
हुई घोषणा :
राशनिंग धूप की !
बन आई है
अफ़सरशाही की
देर से ख्ले
सूरज का दफ़्तर
बन्द हो जल्दी
निष्ठुर अधिकारी
एक न सुने
किसी फ़रियादी की
पीड़ित जन
गुहार लगाते औ
कँपकँपाते
धरती बस रोती
दूर्वा भिगोती
धूप को तरसते
बेबस प्राणी
निहोरा हैं करते
पंछी बेचारे
ठण्ड से ठिठुरते
बेमौत मरें
गुमसुम से खड़े
पेड़-पौधे भी
बस, आहें भरते
असर नहीं
किसी भी  प्रार्थना का
पत्थर दिल !
रोते-बिलखते
छोड़ सभी को
चल देता सूरज
तख़्ती लटका
बसकोटा ख़त्म की
आततायी का
ठिठुरते जग से
नहीं है नाता
अन्यायी राजा सदा
दीन प्रजा सताता ।
-0-
(14-15 नवम्बर , 2014)
-0-
2-शरदागमन---माहिया
शशि पाधा
 1
यह मौसम गीला- सा
पर्वत धूप छिपी
सूरज कुछ  ढीला सा
2
डाली क्यों काँप रही
आहट सर्दी की
सिहरन से भाँप रही |
3
इत -उत क्यों डोल रही
अँगना धूप खड़ी
मुख से ना बोल रही
4
हरियाली छोड़ रहे
चादर बर्फीली
पर्वत सर ओढ़ रहे 
5
अम्बर कुछ नीला -सा
 झिलमिल तारों में
 इक चाँद सजीला -सा 
6
यह धरती सोई है
ओढ़ दुशाला तन
सपनों में खोई है
7
यह कैसी साजिश है
ठंडी धूप  हुई
ओलों की बारिश है
8
सूरज को टोक रहा
शरद सिपाही- सा 
किरणों को रोक रहा
9
रुत कुछ भरमाई -सी
सूरज मंद हुआ
किरणें अलसाई -सी
10
मौसम बंजारे हैं
सर्दी -गर्मी से
हम तो ना हारे हैं
 -0-

7 comments:

ज्योति-कलश said...

बहुत सुन्दर ,प्रभावी चोका .....सर्द मौसम के साथ वर्तमान परिस्थितियों को भी अभिव्यक्ति देते हुए और भी प्रासंगिक हो गया है ..सादर नमन आदरणीया सुधा दीदी को !
शरद के अति सरस ,मनोहर दृश्य अंकित करने के लिए बहुत बहुत बधाई आ शशि दीदी ..सादर नमन !

Manju Mishra said...

Waah ! "‘राशनिंग’ धूप की" ekdam anoothi kalpana ! bahut sundar rachna

Anita Lalit (अनिता ललित ) said...

मज़ा आ गया ! बहुत ही बढ़िया चोका...आदरणीया सुधा दीदी जी ।
सूरज चाचा तो अफ़सर हैं
बादलों से ही बस डरते हैं :-))

माहिया में अत्यंत ही मनोरम दृश्य प्रस्तुत किये शशि पाधा जी ने।
आप दोनों को हार्दिक बधाई।

~सादर
अनिता ललित

jyotsana pardeep said...

sudha ji tatha shashi ji ko sadar naman...bahut sunder rachnaye sard mausam v sharad ritu ki manohari abhyakti lubhavni tatha prabhaavshali hai....karbaddh badhai aap dono ko..

jyotsana pardeep said...

aadarniya sudha ji tatha shashi ji ko saadar naman...sard mausam vsharad ritu par bahut sunder rachnaye ...karbaddh -badhai ke saath...

प्रियंका गुप्ता said...

सुधा जी का बहुत ही सशक्त सामयिक चोका है...| शशि जी का माहिया अत्यंत सुन्दर...| आप दोनों को हार्दिक बधाई...|

Dr.Bhawna said...

gahan abhivyakti rachnaon ne mantr mugdh kar diya bahut bahut badhai..