Sunday, January 26, 2014

दे ऐसा मंत्र मुझे


1-माहिया
डॉ ज्योत्स्ना शर्मा
1
तेरा ना मेरा हो
अपने भारत में
खुशियों का डेरा हो।
2
मैं रोज़ दुआएँ दूँ-
खूब बहार खिले’-
दिन-रैन सदाएँ दूँ।
3
लिख गीत जवानों का
जिनके दम से  है
मौसम मुस्कानों का ।
4
दे ऐसा मंत्र मुझे
महका ,मर्यादित- सा
देना गणतंत्र मुझे ।
-0-
2-ताँका
डॉ सरस्वती माथुर
1
सत्य- अहिंसा
प्रेम सुधा बरसा
मातृभूमि में
लहराया है झंडा
अमन हमें प्यारा l
2
कोशिश करें -
प्यार की सुगंध से
मिलजुल के
देश को महकाए
द्भाही सिखाएँ l

-0-

10 comments:

bhawna said...

तेरा ना मेरा हो
अपने भारत में
खुशियों का डेरा हो।............बहुत सुंदर, ज्योत्सना जी।

डॉ. जेन्नी शबनम said...

देश को समर्पित सभी माहिया और ताँका बहुत उम्दा है...

दे ऐसा मंत्र मुझे
महका ,मर्यादित- सा
देना गणतंत्र मुझे ।

ज्योत्स्ना जी और सरस्वती जी को बधाई.
त्रिवेणी परिवार को गणतंत्र दिवस की बहुत शुभकामनाएँ!

ऋता शेखर मधु said...

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ !!!!
बहुत सुन्दर भाव संजोए हैं डॉ ज्योत्सना जी एवं डॉ सरस्वती जी ने...सादर बधाई दोनो रचनाकारों को|

प्रियंका गुप्ता said...

खूबसूरत-सार्थक माहिया और तांका के लिए बहुत बधाई...|

ज्योति-कलश said...

बहुत आभार भावना जी , 'हिमांशु' भाई जी एवं हरदीप जी | समस्त त्रिवेणी परिवार को गणतंत्र दिवस के अवसर पर हार्दिक शुभ कामनाएँ !

सादर
ज्योत्स्ना शर्मा

ashwini kumar vishnu said...

देश के सीमा-प्रहरियों के प्रति कृतज्ञता -भाव है... मर्यादित गणतंत्र का सुन्दर स्वप्न है...देशवासियों के सुख की कामना है....बहुत अच्छे माहिया लिखे हैं ज्योत्स्ना जी ! ... " मैं रोज़ दुआएँ दूँ- / ‘खूब बहार खिले’- / दिन-रैन सदाएँ दूँ।" बहुत-बहुत पसंद आया !

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएँ |

जय हिन्द ... जय हिन्द की सेना ||

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन गणतंत्र दिवस और ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

anil uphar said...

अनेक शुभकामनाऐँ

ज्योति-कलश said...

डॉ. जेन्नी शबनम जी , ऋता शेखर मधु जी , प्रियंका गुप्ता जी ,अश्विनी कुमार विष्णु जी एवं ब्लॉग बुलेटिन के प्रति हृदय से आभार व्यक्त करती हूँ |

सादर !
ज्योत्स्ना शर्मा

ज्योति-कलश said...

हार्दिक धन्यवाद ...anil uphar ji

saadar
jyotsna sharma