Tuesday, August 20, 2013

उम्र लगे मेरी

1-डॉ सुधा गुप्ता
1
‘अमरस’ अँगनाई में
कोयल कूक रही
अब तो अमराई में ।
2
बहना अब आएगी
सुख-दु:ख की बातें
हिलमिल बतलाएगी ।
3
वो राखी लाएगी
भैया के माथे
हँस तिलक लगाएगी ।
4
दस दिन रह जाएगी
झोली भर खुशियाँ

घर को दे जाएगी।
5
भैया का यह कहना-
यह घर भी तेरा
तू इस घर का गहना ।
6
ये बंधन हैं मीठे
सब रस जीवन के
तेरे बिन हैं सीठे
-0-

 2- डॉ.ज्योत्स्ना शर्मा 
1
दिन राखी का भैया 
बहना राह तके
शुभ-तारों की छैंया
2
यूँ नर्म हवाएँ हैं 
खुशियों के आँसू 
औ' लाख दुआएँ हैं
3
नयनों से दूर भले 
रेशम का धागा
मन से मन बाँध ,खिले
4
बदरी तो जा बरसे 
सुन भैया ,बहना 
राखी पे क्यों तरसे
5
जा डाल हवा फेरी 
भैया से कहना -
खुशियाँ चाहूँ तेरी
6
भैया ! भाभी प्यारी 
चमन खिले सारा 
घर , आँगन ,फुलवारी
7
महका -महका -सा मन 
उम्र लगे मेरी 
हो स्वस्थ सुखी जीवन
8
ये पल अनमोल रहे 
मुझपे क्या जो दूँ
बस मीठे बोल रहे
9
लो भोर विभोर हुई 
हर्षित विटप , किरन 
राखी की डोर हुई
-0-

10 comments:

Pushpa Mehra said...

manniya sudha didi aur jyotsna ji apake mahiya
rn e sahoder ke sath sabhi bhaiyon ki kalai raksha ke pavan dhagon saja di. badhai.
pushpamehra.

ज्योति-कलश said...

बहना अब आएगी
सुख-दु:ख की बातें
हिलमिल बतलाएगी ।.....रक्षाबंधन पर घर का दृश्य साकार हो गया दीदी ....हार्दिक शुभ कामनाएं ...सादर नमन आपको !!

मेरी भी अभिव्यक्ति को स्थान देने के लिए ह्रदय से आभार |

सादर
ज्योत्स्ना शर्मा

ई. प्रदीप कुमार साहनी said...

आपके ब्लॉग को ब्लॉग"दीप" में शामिल किया गया है ।
जरुर पधारें ।

ब्लॉग"दीप"

Krishna said...

भाई-बहन के पावन नेह से गुँथे माहिया....बहुत-२ बधाई!

sunita agarwal said...

wahh bhayi bahan ke pawan riste ... bahut khubsurati se chitrit kiye gaye sabhi rachnaye ek se bahd kar ek .. badhayi :)

shashi purwar said...

sudha ji aur jyotsana ji kya madhur mahiya ki prastuti ki hai aapne man prafullit ho gaya aap dono ko hardik badhai

Shashi said...

आदरणीय सुधा जी, ज्योत्स्ना जी,

इस पावन बंधन को बहुत सुन्दर शब्डॉन में बांधा है आपने | बधाई

सस्नेह,

शशि पाधा

ज्योति-कलश said...

आप सभी की स्नेहमयी उपस्थिति के लिए हृदय से आभार |

सादर
ज्योत्स्ना शर्मा

KAHI UNKAHI said...

आदरणीय सुधा जी के माहिया तो कमाल हैं ही, ज्योत्स्ना जी के माहिया भी बहुत अच्छे लगे...| आप दोनों को हार्दिक बधाई...|
प्रियंका गुप्ता

Manju Mishra said...

दस दिन रह जाएगी
झोली भर खुशियाँ
घर को दे जाएगी ....

kitni saadgi se man ka sneh udel diya ....