Wednesday, January 2, 2013

सदा अभया


डॉ ज्योत्स्ना शर्मा 
नए वर्ष में 
शिवसंकल्पमयी  
तेजस्विनी- सी 
दमको तो दामिनी !
ममतामयी 
स्नेह- सिक्त धरणी
अनुरागिनी 
प्रेममयी शुचिता 
सदा अभया 
भव- सिन्धु-तरणी
सन्नारी अहो !
निरंजना हो
अमृत निर्झरिणी 
नहीं विकल्प 
पूर्ण निष्ठा संकल्प 
शुभ्र ज्योति -अरणी !!
-0-

3 comments:

Krishna Verma said...

बहुत बढ़िया चोका। नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं।

ज्योति-कलश said...

बहुत बहुत आभार कृष्णा वर्मा जी ...आपको भी नए वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएं !
सादर
ज्योत्स्ना शर्मा

Dr.Bhawna said...

Sundar choka aapko bahut2 badhai...