Wednesday, July 11, 2012

सावन आया


1-रेनू चन्द्रा


सावन आया
उमड़ घुमड़ के
छाये नभ पे
काले काले बदरा
भूला शिकवे
मन -मयूर नाचा
सावन गीत
बूँदों के संग गाया
अनुरागी हो
मेघ जब बरसा
जन हर्षाया
पहन लहरिया
मन शर्माया
रंग रंगीला आया
सावन मन भाया ।
  -0-


4 comments:

topcards said...

nice song

r4 card

क्रिएटिव मंच-Creative Manch said...

श्याम व्योम गहन
शम्पा- निपात
पावस ऋतु आई !
varsha ritu par bahut hi sundar rachnayeen.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

सावन आया झूम के, पड़ती सुखद फुहार।
तन-मन को शीतल करे, बहती हुई बयार।

Dr.Bhawna said...

Sundar abhivyakti..